अदनान सामी ने पिता पर उठ रहे सवालों का दिया जवाब, बोले – उन्होंने अपनी ड्यूटी….

नईदिल्ली 28 जनवरी 2020. कांग्रेस के कई नेताओं ने उनके पिता को लेकर यह सवाल किया है कि अदनान के पिता पाकिस्तानी वायुसेना में पायलट थे इतना ही नहीं करगिल युद्ध में शामिल सनाउल्लाह को घुसपैठिया करार दिया गया उन्होंने भारत के खिलाफ युद्ध में लड़े थे। ऐसे में अदनान सामी को पद्मश्री क्यों? । वहीं कांग्रेस ने अदनान की भारतीय नागरिकता को लेकर कई सवाल किया है। अब इस मामले पर अदनान सामी का रिएक्शन आया है उन्होंने अपने पिता अरशद सामी खान और भारतीय नागरिकता पर उठ रहे सवालों का जवाब दिया है।

एएनआई से बातचीत में अदनान सामी ने कहा- मैंने बाबा को बोला-मैं भारत की नागरिकता लेना चाहता हूं इस बारे में आपकी क्या राय है? तो उन्होंने कहा तुम जहां सुरक्षित महसूस करते हो वहां रहो। इंडिया ने तुम्हें बहुत इज्जत और प्यार से अपनाया है। तुम्हारा फर्ज बनता है कि तुम ईमानदारी और एकता के साथ उनके साथ जुड़ कर रहो। अदनान ने आगे कहा कि- ‘मेरे पिता 1965 की लड़ाई में पाकिस्तान के एक फाइटर पायलट थे। उन्होंने अपने देश के लिए अपनी ड्यूटी निभाई। उनको देशभक्ति के लिए सम्मानित भी किया गया।’

अदनान सामी ने कहा- ‘कौन सी दुनिया में ऐसा दस्तूर है एक बेटे के ऊपर इल्जाम आप रखते हो उसके बाप के कामों पर।’ इसके अलावा अदनान सामी ने भारत सरकार को भी धन्यवाद कहा है। बकौल अदनान- ‘ये मेरे और मेरी फैमिली के लिए गर्व का विषय है।’

अदनान सामी का जन्म लंदन में हुआ था। उनके पिता अरशद सामी खान  पाकिस्तानी एयरफोर्स में पायलट थे। पाकिस्तान एयर फोर्स म्यूजियम की ऑफिशियल वेबसाइट की मानें तो अरशद सामी खान ने अपने कार्यकाल के दौरान एक एयरक्राफ्ट, 15 टैंक, 2 हेवी उच्च क्षमता की बंदूकों और 22 वाहनों को नष्ट करने जबकि 8 टैंकों और 19 वाहनों को क्षतिग्रस्त करने का श्रेय जाता है।

Spread the love