ADG ने खुद को मारी गोली : ब्रेकिंग- 1992 बैच के सीनियर IPS ने सर्विस रिवाल्वर से खुद को मारी गोली…. गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती … एडीजी लॉ एंड आर्डर के पद पर हैं पदस्थ

इंफाल 18 जुलाई 2020। सीनियर IPS और ADG ने खुद को गोली मार ली है। एडीजी की हालत गंभीर है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वो बिहार कैडर के IPS अफसर हैं। आज  दोपहर में उन्होंने अपने सरकारी बंगले में खुद को गोली मार ली। वाकया मणिपुर में हुआ जहां फिलहाल वो डिपुटेशन पर थे। उनकी हालत बेहद गंभीर बतायी जा रही है. मणिपुर के अधिकारियों ने ये जानकारी दी है। वो मणिपुर में फिलहाल एडीजी इंटेलिजेंस के पद पर थे।

अरविंद कुमार 1992 बैच के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी हैं. वे मूल रूप से बिहार कैडर के अधिकारी हैं. इससे पहले वे इंटेलिजेंस ब्यूरो में डिप्टी डायरेक्टर थे. उसके बाद उन्हें मणिपुर भेजा गया था. हालांकि अरविंद कुमार ने केंद्र सरकार से अपने मूल कैडर में वापस भेजने की अर्जी लगायी थी।

गोली लगने के कारण लहुलुहान पड़े एडीजी अरविंद कुमार को राज मेडि सिटी ले जाया गया है। फिलहाल अभी यह नहीं पता चल पाया है कि उन्होंने ऐसा कदम क्यों उठाया। इतने बड़े अधिकारी के इस प्रयास के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है और हर कोई यही सोचने पर मजबूर हो गया है कि आखिर उन्होंने ऐसा कदम क्यों उठाया।

क्या इसलिए एडीजी ने मारी खुद को गोली ?

एक पुलिस अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि अरविंद कुमार को फौरन इम्फाल के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया, बाद में उन्हे आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया। इम्फाल आने से पूर्व अरविंद कुमार इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) दिल्ली में उप निदेशक के पद पर तैनात थे। उन्होने खुद को गोली क्यों मारी अभी ज्ञात नहीं हुआ है परन्तु कहा जा रहा है कि अपने गृह कैडर में वापसी के लिए उन्होने आवेदन किया था जिस पर कोई निर्णय न होने से वे डिप्रेशन में चल रहे थे। मणिपुर के DGP एल.एम. खोटे व मुख्य सचिव जे. सुरेश बेबी सहित शीर्ष पुलिस अधिकारी अस्पताल में मौजूद हैं। DGP ने बताया कि घटना के बारे में जांच के आदेश दे दिए गए हैं और उनकी हालत में सुधार होते ही एयर एंबुलेंस से उन्हे इलाज के लिए दिल्ली भेजा जाएगा।

Spread the love