एडिश्नल CEO विजेंद्र कटरे की बढ़ी मुश्किलें….EOW में डॉ राकेश गुप्ता ने दर्ज करायी शिकायत… इससे पहले भी कोर्ट और ईओडब्ल्यू में भ्रष्टाचार व अन्य मामलों पर हो चुकी है शिकायत… पढ़िये क्या है शिकायत

रायपुर 18 जनवरी 2020। स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ एडिश्नल सीईओ विजेंद्र कटरे की मुश्किलेें बढ़ती जा रही है। कटरे के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत EOW में की गयी है। हालांकि ये कोई पहला मामला नहीं है, जब कटरे के खिलाफ शिकायत हुई है, इससे पहले भी एक्टिविस्ट उचित शर्मा ने ईओडब्ल्यू में शिकायत दर्ज करायी थी, जबकि नयी शिकायत छत्तीसगढ़ कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ के चेयरमैन डॉ राकेश गुप्ता ने करायी है। इससे पहले कटरे के खिलाफ विभागीय जांच भी हो चुकी है, बावजूद वो लंबे समय से अपने पद पर बने हुए हैं।

ईओडब्ल्यू के आईजी जीपी सिंह से की गयी लिखित शिकायत में भ्रष्टाचार के साथ-साथ पद का दुरुपयोग और पद के विरूद्ध अनुचित फायदा उठाने की शिकायत दर्ज करायी गयी है। शिकायत में कहा गया है कि 2011 से लेकर 2019 तक कटरे संविदा नियुक्ति पर थे, इस दौरान उन्होंने नर्सिंग होम का भयादोहन किया, वहीं सरकारी खर्चों पर 4 से 5 बार विदेश टूर भी गिया। कांग्रेस सरकार बनने के बाद कटरे के खिलाफ कई शिकायतें हुई थी, जिसके बाद डायरेक्टर हेल्थ ने 2019 में उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिये थे। जांच रिपोर्ट 200 पेज से ज्यादा शामने आया था।

शिकायत में अलग-अलग बिंदुओं पर जांच की मांग की गयी है। भ्रष्टाचार की शिकायत के साथ-साथ विदेश दौर और संपत्ति की जांच की भी मांग की गयी है। माना जा रहा है कि इस शिकायत के बाद कटरे की मुश्किलें बढ़ सकती है। इस मुद्दे पर डा राकेश गुप्ता ने एनपीजी को बताया कि

“इस मामले में मैने ईओडब्ल्यू में शिकायत दर्ज करायी है, ये एक बड़ा मामला है, जिसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिये, भ्रष्टाचार की भी शिकायतें हैं और पद के दुरुपयोग का भी, मैंने अपनी लिखित शिकायत दी है, उम्मीद है जरूर इस पर कार्रवाई होगी, जब तक कार्रवाई नहीं होगी मैं तो लड़ता रहूंगा”

 

ये है पूरी शिकायत-

 

प्रति,

श्रीमान अतिरिक्त मुख्य पुलिस महानिरीक्षक,

आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा, जी ई रोड, तेलीबांधा के सामने रायपुर

माननीय महोदय, विषय – छत्तीसगढ़ राज्य की स्वास्थ्य स्टेट नोडल एजेंसी के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी विजेंद्र कटरे द्वारा की गई भ्रष्टाचार की शिकायत और उसकी जांच हेतु निवेदन. विषय अंतर्गत निवेदन है कि छत्तीसगढ़ राज्य शासन की स्वास्थ्य स्टेट नोडल एजेंसी के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी विजेंद्र कटरे 2011 से 2019 तक संविदा पद पर कार्यरत रहे हैं. इस दौरान विभिन्न स्तरों पर उनके खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायतें की गई है और अप्रैल 2019 में संचालक स्वास्थ्य सेवाएं द्वारा गठित 5 सदस्य समिति ने जांच की थी . जांच के दौरान विजेंद्र कटरे अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी के पद पर बने रहे थे इसलिए उनके द्वारा प्रताड़ित किए हुए नर्सिंग होम संचालक बयान देने सामने नहीं आ पाए. इस विभागीय जांच समिति के निष्कर्ष संलग्न कर रहा हूं इन निष्कर्षों में विजेंद्र कटरे द्वारा स्टेट नोडल एजेंसी के फंड का दुरुपयोग विदेश यात्राओं मंं और 2015 वर्ष के बाद केंद्रीय सरकार द्वारा आवंटित धनराशि का ऑडिट नहीं कराने के संबंध में गंभीर टिप्पणियां जांच समिति द्वारा की गई है। 2011 के बाद विजेंद्र कट रे और इनके परिवार के द्वारा अर्जित संपत्ति के साथ ही इनका पासपोर्ट जप्त कर विदेश यात्रा में हुए खर्च की विस्तृत जांच की जाए.

धन्यवाद आपका ही
डॉ राकेश गुप्ता अध्यक्ष, चिकित्सा प्रकोष्ठ छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी रायपुर
cell phone no.9424223860

Spread the love