सुशांत मामले में सनसनी फैलाने वालों पर होगी कार्रवाई, रिपोर्ट में आत्महत्या की पुष्टि

मुंबई 24 जून 2020.  युवा अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के केस की कवरेज करने वाली कुछ वेबसाइटों को उनकी तरफ से दिखाया गया उतावलापन भारी पड़ सकता है। सुशांत सिंह राजपूत की अंतिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस को सौंप दी गई है और इस रिपोर्ट में साप तौर पर यह बताया गया है कि सुशांत ने आत्महत्या की थी। वहीं पुलिस जांच में ये भी साफ हो गया है कि घटना के दिन इमारत के सीसीटीवी बंद नहीं थे और सिर्फ सनसनी फैलाने के लिए कुछ मीडिया पोर्टल्स ने मनगढ़ंत खबरें प्रकाशित कर दीं।

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या का केस पिछले 14 जून से हाई प्रोफाइल केस बना हुआ है। उनकी आत्महत्या ने हिंदी सिनेमा को भी दो फाड़ कर दिया है जिसमें गुटबाजी, खेमेबाजी और वंशवाद जैसे मुद्दों पर हर रोज तमाम चर्चाएं हो रही हैं। इसी बीच कुछ वेबसाइटों ने अपने सूत्रों के आधार पर बिना तथ्यों की जांच किए सुशांत की आत्महत्या के बारे में कुछ ऐसी कहानियां बनाई थीं जो अब सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद झूठी साबित हो गई हैं।

पुलिस का कहना है कि वह अब इन वेबसाइटों के उन सूत्रों से भी पूछताछ करेंगी जिन्होंने इन वेबसाइटों को उन मनगढ़ंत कहानियों के बारे में बताया। डॉक्टरों ने सुशांत की अंतिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस को सौंपते हुए बताया है कि उनके आत्महत्या की वजह फांसी लगने के कारण सांस रुकना है। शरीर पर कोई जख्म या खरोच के निशान भी नहीं हैं, साथ ही सुशांत के नाखून भी साफ थे।

हालांकि डॉक्टरों ने अभी सुशांत की आंतों को बचा लिया है और उन्हें रासायनिक विश्लेषण के लिए भेज दिया है। सुशांत का पोस्टमार्टम पांच डॉक्टरों के एक पैनल ने किया। फाइनल रिपोर्ट पर पांचों डॉक्टरों ने हस्ताक्षर भी किए हैं। यह फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट साफ तौर पर बताती है कि सुशांत ने आत्महत्या की थी।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.