बच्चों में सीखने की क्षमता का विकास करने तथा उनके शैक्षणिक स्तर में सुधार के लिए बनेगी रणनीति

रायुपर, 29 जनवरी 2020। छत्तीसगढ़ के शासकीय स्कूलों के बच्चों में सीखने की क्षमता का विकास करने तथा उनके शैक्षणिक स्तर में सुधार लाने के लिए एक ठोस कार्य नीति के साथ जमीनी स्तर पर बच्चों के साथ कार्य किया जाएगा। प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा डॉ. आलोक शुक्ला की अध्यक्षता में आज राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद में आयोजित बैठक में यह निर्णय लिया गया। इस बैठक के आधार पर शीघ्र ही राज्य के लिए सीखने के स्तर में सुधार हेतु एक मॉडल राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद की ओर से प्रस्तुत किया जाएगा।

डाॅ. शुक्ला के समक्ष राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद में सीखने में सुधार करने के लिए विभिन्न मॉडल का प्रस्तुतीकरण किया गया। प्रस्तुतीकरण में राज्य के विभिन्न डाइट से अकादमिक सदस्य एवं विभिन्न संस्थाएं शामिल हुई। सभी ने अपने अपने मॉडल का प्रस्तुतीकरण कर उस पर विस्तार से चर्चा की और उसके बाद सभी मॉडल के बेहतर पक्ष को लेकर राज्य में माह अप्रैल में एक ठोस कार्य नीति के साथ जमीनी धरातल पर बच्चों के साथ कार्य करने का निर्णय लिया। इस अवसर पर संचालक राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद पी दयानंद और परिषद के विभिन्न अकादमिक सदस्य उपस्थित थे।

Spread the love