महिला के एक फोन कॉल ने 14.50 के लूटेरों का ऐसे किया खेल खत्म : ….14.50 लाख के लूटेरों को दबोचने रात भर चला आपरेशन….पुलिस पर भी फायरिंग के लिए संभाल रखी थी पोजिशन… पढ़िये लूट की पूरी कहानी

रायगढ़ 4 जुलाई 2020।.…एक महिला की वजह से 14.50 लाख के लूटेरों को पुलिस ने 10 घंटे के भीतर धर दबोचा। महिला ने ही एक गांव में लूटेरों को छिपने की खुफिया सूचना तक पुलिस तक पहुंचायी थी, जिसके बाद एक्शन में आयी पुलिस टीम ने चंद घंटों में इन लूटेरों का खेल खत्म कर दिया। हालांकि कानपुर में हिस्ट्रीशीटर की करतूत से सबक लेकर रायगढ़ पुलिस हर एक्शन के लिए अलर्ट थी…लिहाजा जब सुधीर ने पिस्टल से पोजिशन लेकर गोलियां दागने की कोशिश की, तो बिना मौका दिये पुलिस टीम ने उसे दबोच लिया।  रातों रात अमीर बनने का ख्वाब देखने वाले दोनों लूटेरे बिहार के रहने वाले हैं। कैश वैन लूटने का प्लान इन दोनों ने 15 दिन पहले ही बनाया था। वारदात को अंजाम देने के बाद छुपने का ठिकाना, फरार होने का रास्ता और पैसे के बंटवारे तक की पूरी प्लानिंग हो चुकी थी, लेकिन पुलिस का क्विक एक्शन और स्मार्ट इंटेलिजेंस ने लूटेरों को फरार होने का मौका ही नहीं दिया। हालांकि लूटेरों में से एक सुधीर कानपुर के हिस्ट्रीशीटर की तरह यहां भी पुलिस पर फायरिंग की फिराक में था, लेकिन पुलिस फुर्ती दिखाते हुए हथियार सहित से पकड़ लिया।

दरअसल शुक्रवार की दोपहर रायगढ़ के कोतरारोड क्षेत्र अंतर्गत SBI एटीएम में पैसा डालने आए कैश वैन के ड्राइवर की हत्या कर 14.50 लाख की लूट हुई थी। घटना की सूचना के बाद पुलिस तुरंत ही हरकत में आ गयी। कोतरारोड पुलिस के साथ बनायी गई संयुक्त टीम ने 10 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद धर दबोचा । रातभर चली जिला पुलिस की सघन नाकेबंदी, डोर-टू-डोर पतासाजी की वजह से लूटेरे जिले से भाग नहीं पाए और दोनों को लूट की रकम व हथियारों समेत गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली । चुनौती भरे मिशन अंजाम देने में करीब 50 हथियारबंद जवान एवं अधिकारी शामिल थे ।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े 11 बजे केवडाबाडी स्टेट बैंक के मुख्य शाखा से 3,14,00,000/- रू (तीन करोड चौदह लाख रूपये) एक पेटी मे भरकर कर्मचारी नवरतन रात्रे गनमैन विनोद पटेल, चालक अरविन्द पटेल एवं भीषण कुमार रात्रे के साथ ATM में रकम डालने निकला। कई एटीएम में पैसा भरते हुए कैश वैन करीब 1.45 बजे किरोडीमल SBI ATM पहुंची । कर्मचारी नवरत्न रात्रे पेटी से 13,00,000/- रू0 निकालकर बैग मे रखकर ATM में डालने भीषण रात्रे के साथ ATM अन्दर गया था।

वो ATM के हुड को खोल रहा था उसी समय बाहर गोली चलने की आवाज आयी । तभी दो नकाबपोश शटर को उठाकर गोली चलाकर बैग में रखे 13,00,000/- रू और  SBI ATM से बचे एक्सेस रकम 1,50,000/- रूपये यानि 14,50,000/- रूपये लूट लिये । इस दौरान वैन के चालक अरविन्द पटेल की हत्या कर एवं गनमैन विनोद पटेल को हत्या करने के नियत से गोली मार दी।

घटना की सूचना पर मौके पर जिले के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एवं शहर के सथी थाना/चौकी प्रभारी, सायबर टीम पहुंची । सूचना पर बिलासपुर रेंज आई.जी.  दिपांशु काबरा एवं एसपी रायगढ़ संतोष कुमार सिंह द्वारा पूरे जिले को सील कराकर जिले के अंदर 50 नाकेबंदी पाइंट बनाकर रातभर वाहनों एवं आने-जाने वालों की सघन तलाशी अभियान चलाया गया । वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सरहदी जिले व सरहदी राज्य में नाकेबंदी कराकर अंतर्राज्यीय जिलों के पुलिस अधीक्षकों से तालमेल बिठाया गया । सभी 8 टीमों को अलग-अलग कामों में लगाया गया । पुलिस कन्ट्रोल रूम, जिंदल कम्पनी द्वारा लगाये गये CCTV कैमरों सहित शहर की सैकडो CCTV कैमरों के फुटेज चेक किया गया ।

आरोपियों के शहर से बाहर नहीं निकलने की जानकारी पुख्ता होने तथा केराझर गांव के पास आरोपियों का लास्ट लोकेशन देखा गया था । इसी बीच DSB शाखा में पदस्थ एक आरक्षक को एक महिला ने सूचना दी कि दो संदिग्ध केराझर में देखे गए हैं । तब केराझर एवं पास के दो गांवों को पुलिस की टीमें टारगेट कर आर्म्स लिये हुये 50 जवान की टीम गांव को कार्डन किये, कुछ जवान CSP अविनाश सिंह ठाकुर के साथ बीपी जैकेट हथियार लैस होकर एक-एक कर घरों की तलाशी ले रहे थे । गांववालों द्वारा पुलिस पार्टी के भरपूर सहयोग किया जा रहा था। तभी पुलिसपार्टी को एक कमरे अंदर दो संदिग्ध मिले, जिसमें एक युवक ने पुलिसपार्टी पर पिस्टल तान दिया,जान जोखिम में डाल पुलिसवालों ने झूमाझटकी कर हथियार पकड़े युवक को पटककर उससे हथियार छीनकर दोनों को हिरासत में लिये ।

गिरफ्तार आरोपियों में एक सुधीर कुमार सिंह बिहार के सीवान जिले के खम्हौरी गांव का रहने वाला है। सुधीर के पिता और भाई रायगढ़ में ही रहते हैं और सूर्या कॉम्प्लेाक्स पतरापाली कोतरारोड में उसका घर है। वहीं दूसरा पिन्टु वर्मा उर्फ विराट सिंह उर्फ छोटू उम्र 18 साल का युवक है। वो भी बिहार के कैमूर जिले के रामगढ़ थाना के बिगबाजार का रहने वाला है। सुधीर सिंह ने बताया कि उसके पिता एवं भाई रायगढ़ में ही रहते हैं सुधीर जब भी रायगढ़ आता तो कैश वैन को देख कर उसे लूटकर 1 करोड रुपए कमाने का लालच मन में बना लिया और इस योजना को गांव जाकर अपने साथी पिन्टु वर्मा को बताया और लूट की प्लान के साथ 2 पिस्टल, 2 देसी कट्टा, 3 मैगजीन में 26 राउंड, 2 जिंदा कारतूस, 2 बटन चाकू के साथ प्री प्लानिंग कर कैश वैन को लूटने आया था। पिछले 15 दिनों से पूरे जिले की रैकी किये, 4 दिनों से उक्त कैशवेन को रैकी कर रहे थे । आरोपियों ने एचएफ डीलक्स CG13 Y/16135 मोटरसाइकिल का नंबर प्लेट निकालकर उसमें बिना नंबर लिखे नंबर प्लेट लगाया था। गिरफ्तारी के दौरान पुलिस ने उसे बरामद कर लिया है।  घटना के समय आरोपियों द्वारा 6 राउंड चलाया गया था ।

रात्रि दोनों लूट की रकम 14,50,000 रूपये को आधा-आधा बांट लिए थे जिनके मेमोरेंडम पर लूट की रकम उनके हथियारों के साथ बरामद किया गया है । आरोपी सुधीर पूर्व में अपने अन्य साथियों के साथ रायगढ़-ढिमरापुर मार्ग पर स्थित युनियन बैंक को लूटपाट करने की नाकाम कोशिश करना स्वीकार किया है । जिला पुलिस आरोपियों के पूर्व क्राईम हिस्ट्री खंगाल रही है । बिहार पुलिस से आरोपियों के सिवान और कैमूर में अपराध दर्ज होने की जानकारी मिली है, बिहार पुलिस से जानकारी लेकर मीडिया से साझा किया जावेगा । दोनों आरोपियों को इस मामले में गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा जा रहा है ।

पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज, बिलासपुर द्वारा रायगढ़ एसपी एवं उनकी टीम को बधाई देते हुए पुरस्कृत कराना बताये हैं । टीम में एडिशनल एसपी, सीएसपी, डीएसपी ट्राफिक, नगर कोतवाल कोतरारोड़, कोतवाली, चक्रधरनगर, भूपदेवपुर, खरसिया, जुटमिल टी.आई. एवं उनके स्टाफ तथा सायबर टीम के सदस्य विशेष भूमिका में थे ।

Spread the love