बर्ड फ्लू का खौफ: इस राज्य में मारी जाएंगी 1.66 लाख मुर्गियां, बर्ड फ्लू के बढ़ते खौफ को देखते हुए सरकार ने लिया फैसला

नईदिल्ली 9 जनवरी 2021. हरियाणा के पंचकूला में पांच किलोमीटर दायरे में आ रहे पांच पोल्ट्री फार्म की 1.66 लाख मुर्गियां मार दी जाएंगी. मारी गई मुर्गियां जलाई या दफनाई जाएंगी. यह फैसला तीन फार्मों में से दो में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद किया गया है.

पंचकूला जिले के तीन पोल्ट्री फार्म में से दो के नमूने जांच में पॉजिटिव मिले हैं, उन्हें पशुपालन विभाग ने राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशुरोग संस्थान, भोपाल की लैब में जांच के लिए भेजा था. दो नमूनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. जालंधर लैब की पहली रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई थी.

पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने चंडीगढ़ में इसकी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पंचकूला जिले के रायपुररानी कस्बे के गांव खेड़ी में सिद्धार्थ पोल्ट्री फार्म और नेचर पोल्ट्री फार्म डांडलावर गांव घनौली की मुर्गियों में बर्ड फ्लू मिला है. इनमें मरी हुई पांच-पांच मुर्गियों के नमूने लिए गए थे जिनमें एच5एन8 इन्फ्लुएंजा पाया गया है. यह ज्यादा घातक नहीं है. एच5एन1 इन्फ्लुएंजा सबसे घातक माना जाता है. एसकेएम पोल्ट्री फार्म की रिपोर्ट निगेटिव आई है.

बचाव के लिए अब यह कदम : जिन दो फार्म में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है, उनके एक किलोमीटर के दायरे में आने वाले पांच पोल्ट्री फार्म की 1 लाख 66 हजार 128 मुर्गियों को मारकर जलाया या दबाया जाएगा. इसके लिए 59 टीमें गठित कर दी गई हैं. इन पोल्ट्री फार्म के संचालकों को प्रति मुर्गी 90 रुपये मुआवजा दिया जाएगा.

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!