खुलेआम ठेका कम्पनी से रंगदारी मांगने वाला कांग्रेस समर्थक गिरफ्तार…. पिछले दिनों एक आडियो भी हुआ था वायरल…. भाग रहे इस बदमाश को खदेड़कर पुलिस ने पकड़ा

कोरबा 16 मई 2020। रंगदारी वसूली के मामले में कांग्रेस समर्थक को पुलिस ने आज गिरफ्तार कर लिया। तौकीर अहमद नाम के इस शख्स पर धमकाने और रंगदारी वसूली जैसे कई गंभीर आरोप दर्ज थे। इस व्यक्ति का पिछले दिनों एक आडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें ये खुलेआम धमकी देते कैद हुआ था। IPS उदय किरण ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए तौकीर को गिरफ्तार किया और फिर उसे जेल भेज दिया। कमाल की बात ये है कि ये खुलेआम अधिकारियों व ठेका कंपनी के मालिकों को फोन करता था और कभी 50 लाख तो कभी 20 लाख रुपये की डिमांड करता था।

आपको याद होगा कुछ समय पूर्व थाना बालको अंतर्गत एक व्हाट्सएप आडियो मैसेज वायरल हुआ था। उस आडियो में धमकी देते जिस शख्स की आवाज थी, वो तौकीर अहमद ही था। उस आडियो में एक कंपनी के अधिकारी को डराते हुए ठेका लेने और अन्य काम को यहां संचालित रखने के एवज में लाखों की डिमांड तौफीक कर रहा था। यही नहीं पैसा नहीं देने पर खुलेआम धमकी देने की भी बात वो करता सुनाई दे रहा था। आडियो में बकाया पैसा की वसूली को लेकर भी कहा जा रहा था।

इस वायरल हुए ऑडियो से ठेकेदार, ठेका श्रमिक ,कर्मचारी एवं लोगों में डर फैल गया था। वायरल व्हाट्सऐप ऑडियो मैसेज की जांच जब पुलिस ने शुरू की तो जानकारी मिली की रिसदी का रहने वाला गुंडा बदमाश तौकीर अहमद कभी 5000000 (पचास लाख) कभी 2000000 (बीस लाख) 1200000 (बारह लाख) का मोलभाव करते हुए अधिकारी को धमकी भरे लहजे में डराया धमकाया करता है। यही नहीं पैसे का उगाही और ठेकेदारी का काम नहीं देने पर अंजाम भुगतने की धमकी भी देता था।

इधर पुलिस जब जांच करते हुए कंपनी के अधिकारियों के पास पहुंची तो तौकीर का नाम सुनते ही उनके भी हाथ पांव फूल गये। दरअसल ऐसा इसलिए था क्योंकि तौकीर का अपने इलाके में बड़ा दबदबा था और मंत्री से उसकी करीबी की वजह से कोई उस पर हाथ डालने को भी तैयार नहीं था। इस व्यक्ति से अधिकारी कर्मचारी बेहद परेशान थे ।

जिसके बाद कोरबा पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए तौकीर अहमद के खिलाफ अपराध धारा 506,384 ,385 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया। पुलिस जब तौकीर को गिरफ्तार करने पहुंची, तो वो मौके से भागने की कोशिश करने लगा, जिसके बाद पुलिस टीम ने दौड़ाकर उसे धर दबोचा। आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया, जिसके बाद उसे 15 दिन के लिए जेल भेज दिया गया।

 

 

 

 

Spread the love