राजधानी में बीच चौराहे पर कारोबारी की चाकू से गोदकर हत्या….2 आरोपियों ने किया सरेंडर….चश्मे की कीमत से शुरू हुआ विवाद चाकूबाजी तक पहुंच गया

रायपुर 13 अक्टूबर 2020। राजधानी में लगता है इन दिनों चाकूबाजों का हौसला कुछ ज्यादा ही बुलंद हो गया है। आये दिन कहीं ना कहीं से चाकूबाजी की खबरें आ ही रही है। कहीं किसी को चाकू से मौत के घाट उतारने की खबर है, तो कहीं लहुलूहान….। इन सबके बीच राजधानी के जयस्तंभ चौक से एक बड़ी घटना सामने आयी, जहां बीच सडक पर चाकू से गोद-गोदकर एक कारोबारी की हत्या कर दी गयी। मर्डर के बाद आरोपी मौके से फरार हो गये, हालांकि बाद में उनमें से दो ने गोलबाजार थाने में जाकर सरेंडर कर दिया। जयस्तंभ चौक जैसे व्यस्त इलाके में इस तरह की घटना ने राजधानी में पुलिस व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी है।

घटना सोमवार देर शाम की बतायी जा रही है। कोंडागांव के इरशाद खान अपने दो साथियों के साथ कार से खरीददारी के लिए रायपुर आया था। इस दौरान मालवीय रोड पर सड़क किनारे बेच रहे गोगल्स बेच रहे युवक के साथ उनका विवाद हो गया। जब इरशाद विवाद स्थल से आगे निकलकर रविभवन की तरफ मुड़ा तभी सिग्नल रेड हो गया और कार रोकनी पड़ गयी। इसी बीच पीछे से आये युवकों ने इरशाद पर हमला बोल दिया।

 चश्मे की कीमत 700 बताने पर हुआ विवाद

सोमवार को विकास, हैदर, इरशाद, अहमद एवं जमाल बडगुजर के साथ इलेक्ट्रानिक सामान खरीदने रायपुर आये थे । कार को हैदर चला रहा था । वो सभी मालवीय रोड मे थाना गोलबाजार की ओर से जयस्तंभ चौक की ओर जा रहे थे जयस्तंभ चौक के किनारे चश्मे की दुकान देख  इरशाद ने कार से ही उसकी कीमत पूछ ली। जिसकी कीमत दुकान में बैठे व्यक्ति 700/- रूपये बतायी। जिसके बाद इरशाद ने ये कह दिया कि रोड छाप चश्मा है और इतना ज्यादा रेट बता रहे हो, जिसके बाद युवक ने गुस्से में कह दिया कि जब खरीदने की औकात नही है तो रेट क्यों पूछते हो तेरे को अभी दिखाता हूं कि मैं कौन हूं। तभी सिग्नल ग्रीन हुई और कार आगे बढ गयी, लेकिन जय स्तंभ चौक पार करने से पहले दोबारा सिग्नल रेड हो गया, जिसकी वजह से दोबारा से कार रोकना पडा उसी समय दो तीन लडके दौडते हुए आए और कार के कांच को पीटने लगे। इरशाद और विकास कार से नीचे उतरकर बात करने लगे, जिसके बाद सफेद शर्ट पहने युवक ने पास रखे धारदार नोकदार चाकू से इरशाद के पेट के बांये तरफ वार कर दिया और सभी वहां से भाग गए ।

आरोपी ने सुबह सरेंडर किया

घटना के बाद तुरंत इरशाद को मेकाहारा पहुंचाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। इधर घटना के बाद आरोपी सीसीटीवी में बांसटाल की तरफ भागते दिखे, इधर पुलिस ने जब इस मामले में पड़ताल शुरू की तो घटना में ईरानी डेरा के युवकों का नाम आया। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस बड़ी संख्या में खोजबीन मेंजुट गयी, जिसके बाद दवाब में आरोपियों ने आज सुबह सरेंडर कर दिया। हालांकि पहले चार आरोपियों की बात सामने आ रही थी, लेकिन बाद में आरोपियों ने कहा कि चार नहीं सिर्फ वो दो ही हत्या में शामिल थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.