9 शिक्षक हुए ब्लैक लिस्टेड :… कॉपी जांच में गंभीर चूक करने वाले शिक्षक पर माशिम की कार्रवाई……वेतन वृद्धि पर रोक की भी अनुशंसा…. शिक्षकों में मचा हड़कंप… देखिये किस तरह की लापरवाही की गयी थी

रायपुर 7 जनवरी 2020। कहते हैं ना एग्जाम में बच्चे उत्तर पुस्तिका में जवाब नहीं, अपनी किस्मत लिखते हैं, लेकिन कुछ शिक्षक ऐसे भी होते हैं, जो छात्रों की किस्मत बिगाड़ने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते। अब वैसे ही किस्मत बिगाड़ने वाले 9 शिक्षकों पर गाज गिरी है। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 9 शिक्षकों को कॉपी जांच के लिए ब्लैक लिस्टेड कर दिया है। एक शिक्षक के खिलाफ वेतन वृद्धि रोकने की भी अनुशंसा की गयी है।

दरअसल इन 9 शिक्षकों ने कॉपी की जांच में गंभीर लापरवाही बरती थी। ये वो शिक्षक थे, जिन्होंने कॉपी जांच में इस कदर लापरवाही बरती कि सही जवाब लिखने वाले छात्रों के नंबर भी काट लिये। आलम ये हुआ कि जब बच्चों ने पुनर्मूल्यांकन कराया तो 50 नंबर तक के छात्रों के बढ़ गये। लिहाजा जो बच्चे फेल करार दिये गये थे, उनमें से कई पास हो गये, तो कईयों ने मेरिट लिस्ट में जगह बना ली। हद तो तब हो गया, जब मेरिट के टॉप टेन परीक्षार्थी की पोजिशन भी कई दफा बदलनी पड़ी।

अब ऐसे लापरवाह शिक्षकों पर माध्यमिक शिक्षा मंडल गाज गिरा रहा है। 9 शिक्षकों को ब्लैक लिस्टेड और एक की वेतन वृद्धि रोकने की अनुशंसा की गयी है। अब तक 10वी-12वीं की कॉपी जांच करने में लापरवाही बरतने वाले 176 शिक्षकों पर कार्रवाई की गयी है। 

Spread the love