5 दोस्तों की जिंदा जलकर मौत : एक साथ 5 दोस्तों की चिता सजी….शादी समारोह से लौट रहे 5 दोस्तों की कार टैकर से टकरायी, कार में लगी भीषण आग…… पांच दोस्‍तों की यह ग्रुप फोटो बन गयी आखिरी याद

चंडीगढ़ 18 नवंबर 2020। एक साथ पांच दोस्तों की चिता सजी तो पूरा गांव रो पड़ा। संगरूर-सुनम मार्ग पर दर्दनाक हादसे का शिकार हुए पांच दोस्तों का आज एक साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। कल कार और ट्रक की भीषण टक्कर के बाद कार में आग लग गई थी, जिसके बाद उसमें सवार पांच लोगों की जलने से मौत हो गई। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कार सवार पांचों लोग संगरूर जिले के दिरबा शहर में एक विवाह समारोह में शामिल होने के बाद सोमवार देर रात मोगा लौट रहे थे।

संगरूर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) विवेक शील सोनी ने बताया कि मारे गए लोगों में एक डॉक्टर भी थे। एसएसपी ने बताया, ‘हादसा देर रात हुआ। कार ट्रक के डीज़ल टैंक से टकरा गई और तेल फैल गया, जिससे कार में आग लग गई। कार सवार लोगों को बाहर निकलने का समय ही नहीं मिला और वे जिंदा ही जल गए। शवों को बाहर निकालने के लिए कार को काटना पड़ा।’

बताया जा रहा है। कार गलत दिशा से आ रही थी और यह कैंटर से टकरा गई। इसके कार में आग लग गई। कार में पांच लोग सवार थे। ये लोग कुछ समझ पाते उससे पहले ही आग ने कार पूरी तरह अपनी चपेट में ले लिया और इसमें सवार लोग फंस गए। इसके बाद सभी पांच लोग कार के भीतर ही जलकर राख हो गए। कार भी पूरी तरह जल गई।

बताया जाता है कि ये सभी लोग मोगा जिले के रहनेवाले थे। पुलिस का कहना है कि ये सभी व्यक्ति रात में किसी विवाह समागम में शामिल होने के बाद वापस मोगा लौट रहे थे। इसी दौरान यह हादसा हो गया। इस हादसे से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया। पुलिस ने कैंटर को अपने कब्‍जे में ले लिया है और हादसे की जांच कर रही है।

पुलिस ने बताया कि हादसे में मारे गए लोगों की पहचान मोगा के टल्‍लेवाल निवासी डा. बलविंदर सिंह, मोगा के नानक नगर निवासी कुलतार सिंह पुत्र लक्ष्मण सिंह, मोगा की ग्रीन फील्ड कालोनी निवासी कैप्टन सुखविंदर सिंह, मोगा के रामुवाला नवां निवासी सुरिंदर सिंह और मोगा निवासी चमकौर सिंह के रूप में हुई है।

मारे गए लोगों में एक कुलतार सिंह की पत्‍नी तीन महीने की गर्भवती हैं। इसी तरह अन्‍य दोस्‍तों के परिवारों की भी दुनिया उजड़ गई है। कुलतार सिंह के पहली पत्नी से तलाक के बाद दूसरी शादी की थी। कुलतार सिंह के भाई नारायण सिंह ने बताया कि उनका भाई एक नेटवर्किंग कंपनी को लिए दवा का कारोबार करता था।

मोगा की ग्रीन फील्ड निवासी 62 वर्षीय सुखविंदर सिंह जिसकी बडी बेटी कनाडा में सेटल है। एक 20 वर्षीय बेटा उनके पास रहता है ,कैप्टन 30 नवंबर 2004 को आर्मी में क्लेरीकल डिपार्टमेंट से रिटायर हुए थे।

कैप्टन सुखविंदर सिंह के साथ आम आदमी पार्टी में काम करने वाले सीनियर नेता नवदीप संघा,अमित पुरी व अन्य समर्थकों ने बताया कि कैप्टन सुखमिंदर सिंह पिछले कई वर्षों से आम आदमी पार्टी से जुड़कर शहर की ज्वलंत समस्याओं के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे थे।

रामूवाला नवां के सुरिन्द्रपाल सिंह पांच बच्चों के पिता थे। उन्‍होंने पिछले वर्ष अपनी एक बेटी की शादी की थी। वही अब दो बेटे और दो बेटियों का पालन पोषण की जिम्‍मेदारी उन पर थी। सुरिन्द्रपाल काम करके अपने घर का गुजारा कर रहे थे।

Spread the love