कैप्टन सहित 4 जवान शहीद : आतंकियों से हुई मुठभेड़ में आर्मी के कैप्टन और 3 जवान शहीद…. 3 आतंकियों को भी किया गया ढेर….शहीदों के शव को घर किया जा रहा है रवाना

श्रीनगर 8 नवंबर 2020। सुरक्षाबलों ने पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ (Infiltration Bid) की एक बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है.  जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में नियंत्रण रेखा (LOC)  के निकट रविवार को हुई कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकवादियों (Terrorist) को ढेर कर दिया. .इस ऑपरेशन में देश के लिए चार जवान कुर्बान हो गए। इनमें आर्मी के एक कैप्टन समेत दो जवान और बीएसएफ के एक कॉन्स्टेबल शामिल हैं।

रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि सेना के गश्ती दल ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकवादियों को रोका, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। 7-8 नवंबर की रात करीब एक बजे नियंत्रण रेखा पर माछिल सेक्टर (उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में) के निकट गश्ती दल ने कुछ अज्ञात लोगों को संदिग्ध गतिविधियां करते देखा।

कर्नल कालिया ने कहा कि गोलीबारी में तीन आतंकवादी मारा गया। इसी दौरान देश के लिए बीएसएफ के कॉन्स्टेबल सुदीप सरकार ने अपनी जान दे दी। बाद में ऑपरेशन के दौरान सेना के एक कैप्टन समेत दो और जवान शहीद हो गए। इस तरह सेना ने इस ऑपरेशन में अपने चार जवान खो दिए। मुठभेड़ स्थल से एक AK राइफल और दो थैले बरामद हुए हैं। फिलहाल तलाशी अभियान जारी है।

घुसपैठ की यह कोशिश कुपवाड़ा (Kupwara) सेक्टर में हुई . जानकारी के मुताबिक, उत्तरी कश्मीर के माछिल (Machil Sector) सेक्टर में सुरक्षाबलों ने आतंकवाद रोधी अभियान के तहत तीन आतंकियों को ढेर कर दिया. दरअसल, पाकिस्तान की ओर से सर्दियां शुरू होने के पहले घुसपैठ के प्रयास तेज हो गए हैं. इस कारण नियंत्रण रेखा (LOC) और अंतरराष्ट्रीय सीमा (International Border) पर उसकी ओर से लगातार घुसपैठ की कोशिशें हो रही हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा संख्या में आतंकवादियों को जम्मू-कश्मीर में भेजकर अशांति फैलाई जा सके. हालांकि सतर्क सुरक्षाबलों ने पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की ज्यादातर कोशिशों को नाकाम किया है. सीमा पर तलाशी अभियान में कई बार भारी मात्रा में गोला-बारूद और हथियार भी बरामद किए गए हैं.

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.