29 IPS कामचोर हैं ….. 14 करते हैं 2-2 घंटे में लंच…तो 12 हाफ टाइम के बाद हो जाते हैं गायब….. DGP की चिट्ठी से मचा बवाल…

भोपाल 8 जून 2020।  डीजीपी विवेक जौहरी की एक चिट्ठी से पुलिस महकमे में बवाल मच गया है। चिट्ठी वायरल होने के बाद पुलिस मुख्यालय में तैनात आईपीएस अधिकारियों की निष्ठा पर सवाल उठ रहे हैं।अफसरों की लिखी चिट्ठी में जिक्र है कि लाखों रुपये की वेतन पाने वाले आईपीएस अधिकारी कामचोरी कर रहे हैं। डीजीपी ने अपने पत्र में कई गंभीर सवाल उठाए हैं। कई आईपीएस, तो बिना ऑफिस आए ही वेतन ले रहे हैं। इन अफसरों में स्पेशल डीजी, एडीजी और आईजी रैंक तक के अफसर शामिल हैं। डीजीपी विवेक जौहरी ने 6 जून को एक पत्र लिखा है, जिसमें इन आईपीएस को चेताया गया है। पत्र में कहा गया है कि पुलिस मुख्यालय मे तैनात ये अफसर बिना काम के सैलरी ले रहे हैं। घंटों आफिस से गायब रहते हैं। 2-2 घंटे का लंच करते हैं। हालांकि पत्र में किसी आईपीएस का नाम नहीं लिया गया है, लेकिन माना जा रहा है  डीजीपी पुलिस अफसरों की शैली से नाखुश हैं।

डीजीपी विवेक जौहरी ने अपने पत्र में लिखा है कि पुलिस मुख्यालय में ड्यूटी करने का समय 10:30 से शाम 5:30 बजे तक है. लेकिन यह अत्यंत खेद का विषय है कि स्पेशल डीजी, एडीजी और आईजी रैंक के वरिष्ठ अधिकारी (जो मुख्यालय में अपनी शाखाओं के प्रभारी होते हैं) वे सभी निर्धारित समय में उपस्थित नहीं होते हैं. यह स्थिति अत्यंत चिंताजनक है।

फोकट की सैलरी ले रहे

डीजीपी ने 6 जून को पुलिस अफसरों को एक पत्र लिखा है। यह सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। हालांकि इस संबंध में डीजीपी मीडिया से बात करने को राजी नहीं है। उन्होंने यही कहा कि, उन्हें जो कहना था वो कह चुके। पत्र में कहा गया है कि ये आईपीएस लाखों रुपए सैलरी के तौर पर ले रहे हैं। लेकिन काम बिलकुल नहीं करते। कई आईपीएस बिना ऑफिस आए सैलरी उठा रहे हैं। कई लंच टाइम में 2-2 घंटे गायब रहते हैं।

कौन अफसर कितने कामचोर 

डीजीपी ने अपने आदेश में यह भी लिखा है कि जो अधिकारी कार्यालय नहीं आते हैं, उनकी संख्या 3 है. ऐसे अधिकारी जो लंच के बाद नहीं आते हैं, उनकी संख्या 12 है. ऐसे अधिकारी जो 2 घंटे या फिर उससे अधिक समय तक लंच करते हैं, उनकी संख्या 14 है.

 

Spread the love