comscore

महाराष्ट्रा के 18 जिलें कल से होंगे अनलॉक, वहीँ मुंबई में 15 जून के बाद फैसला… जाने कौन कौन से जिलें होंगे अनलॉक

मुंबई 3 जून 2021. महाराष्ट्र और महानगर मुंबई में कोरोना मामलों में आई कमी के साथ ही चरणबद्ध तरीके से अनलॉक प्रक्रिया शुरू की जा रही है. निर्देशों के मुताबिक लेवल-5 का मतलब है कि इस लेवल के जिलों में संक्रमण दर काफी कम है. राज्य में कुल 36 में से 18 जिले ऐसे हैं, जहां किसी भी तरह की पाबंदी नहीं होगी. शुक्रवार से इन जिलों में सभी चीजें खोल दी जाएंगी. राज्य के अन्य जिले, लेवल 1, लेवल 2, लेवल 3, लेवल 4 में हैं, जहां संक्रमण दर कम होने पर पाबंदियों में छूट मिलेगी.

राज्य के जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट 5% से कम है या ऑक्सीजन के बेड 25 फ़ीसदी से कम ऑक्यूपाइड है ऐसे 18 जिलों में जिम, मॉल, रेस्टोरेंट्स, सलून, थिएटर, फिल्म शूटिंग, शादी समारोह के लिए इजाजत दी गई है. राज्य सरकार ने महाराष्ट्र को 5 लेवल में विभाजित किया है. इसमें राज्य की राजधानी मुंबई को level-2 में रखा गया है.

मुंबई में संक्रमण की दर 5.53% है ऐसे में मुंबई में क्या शुरू रहेगा क्या बंद इस पर आगे बात करेंगे. लेकिन पहले बात कर लेते हैं उन 18 जिलों की जो कल से अनलॉक होने के लिए तैयार हैं.

कौन सा जिला कौन से लेवल में-

Level 1- औरंगाबाद, नासिक, भंडारा. बुलढाणा, नागपुर, नांदेड़, नाशिक, ठाणे, परभणी, गोंदिया, गडचिरोली, वर्धा, वाशिम, चंद्रपुर, लातूर, यवतमाल, धुले जालना.

Level 2- मुंबई, मुंबईउप-नगर, अमरावती, हिंगोली, नंदुरबार, अहमदनगर

Level 3- कोल्हापुर, सांगली,अकोला, रत्नागिरी, उस्मानाबाद, बीड, सिंधुदुर्ग

Level 4- पुणे, रायगढ़

कल से लागू होंगे नियम

मंत्री विजय वडेट्टीवार ने घोषणा करते हुए साफ कर दिया है कि जो जिले लेवल वन में आ रहे हैं वही पूरी तरीके से अनलॉक होंगे. यहां हर ऑफिस में 100% उपस्थिति हो सकेगी. हालांकि कलेक्टर और महानगरपालिका कमिश्नर को इस बात का ख्याल रखना होगा कि संक्रमण की दर 5 फ़ीसदी के अंदर ही रहे. मुंबई को अनलॉक होने के लिए अभी थोड़ा इंतजार और करना होगा. हर शुक्रवार को कलेक्टर और कमिश्नर स्थानीय लेवल पर पॉजिटिविटी रेट के संबंध में रिव्यू करेंगे. जानकारी के मुताबिक मुंबई में फिलहाल पॉजिटिविटी का रेट 5.53 फीसदी है. लिहाजा उम्मीद की जा रही है कि अगले सप्ताह तक मुंबई भी अनलॉक हो सकेगा. हालांकि राज्य सरकार ने फिलहाल आम आदमी को लोकल में सफर करने की इजाजत नहीं दी है.

खतरे में पुणे और रायगढ़

पुणे में संक्रमण की दर 12 फीसदी से ज्यादा है जो सरकार के लिहाज से काफी ज्यादा है. यही वजह है कि पुणे को level-4 में रखा गया है. आपको बता दें कि ब्लैक फंगस के सबसे ज्यादा मामले पुणे में ही दर्ज किए गए हैं. वहीं रायगढ़ जिले में भी संक्रमण तेजी से फैल रहा है यहां संक्रमण की दर 18 फ़ीसदी से ज्यादा है.

बाहर से आने वालों के लिए RTPCR टेस्ट अनिवार्य

दूसरे देशों से और दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को महाराष्ट्र में आने से पहले आरटी पीसीआर टेस्ट कराना अनिवार्य होगा. राज्य सरकार ने इस फैसले को वापस नहीं लिया है.

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!