सेंटर ऑफ एक्सिलेंस के रूप में विकसित होगा लखनपुरी आदर्श कन्या छात्रावास, मुख्य सचिव ने किया निर्माणाधीन स्थल का निरीक्षण

कांकेर 5 जून 2020। मुख्य सचिव आरपी मण्डल ने आज कांकेर जिले के प्रवास के दौरान चारामा विकासखण्ड के ग्राम लखनपुरी (कानापोड़) में 100 सीटर प्री-मैट्रिक आदिवासी आदर्श कन्या छात्रावास के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने छात्रावास को सेंटर ऑफ एक्सिलेंस के रूप में विकसित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि छात्रावास के चारों ओर वन विभाग द्वारा फैन्सिग किया जाए, साथ ही फलदार एवं छायादार पौधों का रोपण किया जाए। छात्रावास परिसर में खेलकूद की सभी सुविधाएं उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने कहा कि मैदान में क्रिकेट पिच, फुटबॉल व व्हालीबॉल ग्राऊण्ड, टेबल-टेनिस, कैरम आदि सहित ओपन एवं इंडोर खेल की सुविधा जरूर होना चाहिए।

मुख्य सचिव ने छात्रावास मे किचन रूम, कम्प्यूटर रूम, पुस्तकालय, स्टडी हॉल, शौचालय और 24 घण्टे शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि छात्रावास को इस प्रकार से विकसित किया जाए कि यहां पढ़ने वाले बच्चे और उनके माता-पिता अपने को गौरवान्वित महसूस करें। मुख्य सचिव मण्डल द्वारा जिले के सभी आश्रम-छात्रावासों को भी फैन्सिग करने के लिए भी वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये।

मुख्य सचिव ने आज विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर कानापोड़ (लखनपुरी) मे निर्माणाधीन प्री-मैट्रिक आदर्श आदिवासी कन्या छात्रावास के मैदान में फलदार पौधांे का रोपण किया गया। इस अवसर पर आदिम जाति कल्याण विभाग सचिव डीडी सिंह, सचिव महिला एवं बाल विकास आर प्रसन्ना, कमिश्नर बस्तर संभाग अमृत खलखो, मुख्य वन संरक्षक कांकेर जेआर नायक, मुख्य वन संरक्षक जगदलपुर मोहम्मद शाहिद, कलेक्टर कांकेर केएल चौहान, कलेक्टर कोण्डागांव पुष्पेन्द्र मीणा, कलेक्टर नारायणपुर अभिजीत सिंह, कलेक्टर दंतेवाड़ा  दीपक सोनी, पुलिस अधीक्षक कांकेर एमआर अहिरे, जिला पंचायत कांकेर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे सहित सीईओ नारायणपुर एवं सीईओ दंतेवाड़ा और विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Spread the love