npg
शिक्षा

छात्रों को भड़काने के आरोप में टीचर व यूट्यूबर खान सर सहित अन्य शिक्षकों पर FIR दर्ज... मामला दर्ज होते ही अंडरग्राउंड हुए खान सर...

छात्रों को भड़काने के आरोप में टीचर व यूट्यूबर खान सर सहित अन्य शिक्षकों पर FIR दर्ज... मामला दर्ज होते ही अंडरग्राउंड हुए खान सर...
X

पटना 27 जनवरी, 2022- बिहार के पटना वाले खान सर यू-ट्यूब की दुनिया के चर्चित शिक्षकों में से एक हैं। उनका चैनल खान जीएस रिसर्च सेंटर (Khan GS Research Centre) लोकप्रिय है। इसके करीब 1.45 करोड़ फॉलोवर्स हैं। खान सर का आरआरबी एनटीपीसी सीबीटी-1 परीक्षा परिणाम के विश्लेषण का एक वीडियो देशभर में जमकर वायरल हो रहा है। इसमें खान सर (Khan Sir) प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों और युवाओं को आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा परिणाम का कथित गड़बड़झाला, अपने हक के लिए लड़ने और आंदोलन करने के तौर-तरीके समझा रहे हैं। वीडियो को उकसाने वाला मानकर प्रशासन ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है और कार्रवाई भी शुरू कर दी है।

बताया यह भी जा रहा है क‍ि खान सर ने अपना मोबाइल बंद कर लिया है। वह पुलिस की कार्रवाई से बचने के लिए कानूनी उपायों पर राय ले रहे हैं। इस बीच पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने बताया है कि‍ खान सर का नाम प्राथमिकी में क्यों शामिल किया गया और पुलिस उनके खिलाफ क्या कार्रवाई करने जा रही है।

थानेदार के बयान के मुताबिक किशन कुमार उम्र 21 साल, रोहित कुमार उम्र 23 साल, राजेंद्र कुमार, विक्रम कुमार ने पूछताछ के क्रम में बताया कि हम लोगों को यहां पर आने के लिए खान सर, एसके झा सर, नवीन सर, अमरनाथ सर, गगन प्रताप सर, गोपाल वर्मा सर और बाजार समिति के विभिन्न कोचिंग संस्थान के संचालकों द्वारा मार्गदर्शन किया गया है. अगर पुलिस नहीं आती तो हम लोग तोड़फोड़ कर दंगा करने के फिराक में यहां पर आए थे.

कौन हैं खान सर:-

खान सर प्रसिद्ध यूट्यूबर हैं। जिनको जीएस के विषयों को आसान तरीके से पढ़ाने में महारत हासिल है। उनके यू ट्यूब में 1 करोड़ फालोवर हैं।

पटना के खान सर के बारे में इन छात्रों ने पुलिस को बताया कि खान सर का एक वीडियो जो सोशल मीडिया में भी है उसमें खान सर बोले थे कि अगर एनटीपीसी की परीक्षा कैंसिल कर दोबारा नहीं होगी तो स्टूडेंट्स को हम लोग हर जगह उतारेंगे. पूछताछ के क्रम में पकड़े गए छात्रों ने बताया कि हम लोगों के अलावा इस घटना में शिव शक्ति नगर बहादुरपुर का नरेश, नागेश ,विकास ,खेसारी ,मृत्युंजय, बालेश्वर ,विशाल ,पंकज, सूरज विकास, छोटू, मुकेश और पटेल छात्रावास के मेरे अन्य दोस्त और 3 सौ से 4 सौ छात्र शामिल थे.


Next Story