रानी रामपाल ने रचा इतिहास, ‘वर्ल्ड गेम्स एथलीट ऑफ द ईयर’ अवॉर्ड पाने वाली बनी पहली भारतीय

नई दिल्ली 31 जनवरी 2020 भारत की महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने गुरुवार को ‘द वर्ल्ड गेम्स एथलीट ऑफ द ईयर 2019’ पुरस्कार जीत लिया है. यह पुरस्कार शानदार प्रदर्शन, सामाजिक सरोकार और अच्छे व्यवहार के लिए दिया जाता है. इस पुरस्कार के लिए लोगों ने मतदान किया.

इस पुरस्कार के लिए 25 पुरुष तथा महिला नामांकन थे. इसके बाद इसे 10 का किया गया और फिर इसके लिए लोगों की राय ली गई.

रानी के अलावा कराटे स्टार स्टैनीसलाव होरूना (यूक्रेन), कनाडाई पावरलिफ्टर चैम्पियन राहेया स्टिन और स्लोवानिया की स्पोर्ट क्लाइम्बिंग स्टार जांजा गार्नब्रेट को काफी मत मिले लेकिन रानी ने इन सबको पीछे छोड़ दिया.

15 साल की उम्र से भारत के लिए खेल रहीं रानी ने अब तक कुल 240 मैच खेले हैं. रानी की कप्तानी में भारतीय टीम टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुकी है.

गौरतलब है कि हाल ही में प्रतिष्ठित पद्मश्री पुरस्कार के लिए नामित की गईं रानी रामपाल ने अपना यह पुरस्कार अपनी टीम और सपोर्ट स्टाफ को समर्पित किया था. उन्होंने साथ ही अपने कोच और खेल मंत्री किरण रिजिजू को भी धन्यवाद दिया.

रानी ने ट्विटर पर लिखा, “मैं अपने देश के सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार में से एक के लिए चुने जाने से सम्मानित महसूस कर रही हूं. मैं इस पुरस्कार को पूरी टीम और सहयोगी स्टाफ को समर्पित करती हूं. किरण रिजिजू, हॉकी इंडिया, कोच बलदेव सर, परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों की शुक्रगुजार हूं जिन्होंने हमेशा मेरा समर्थन किया है.”

इनके अलावा भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान, महिला फुटबाल खिलाड़ी ओइनाम बेमबेम देवी, भारतीय हॉकी टीम के पूर्व खिलाड़ी एम.पी. गणेश, पुरुष निशानेबाज जीतू राय, पुरुष तीरंदाज तरुणदीप राय को भी पद्मश्री अवार्ड देने का फैसला किया गया है.

Spread the love