भारतीय टीम के कप्तान रवि शास्त्री को आया गुस्सा बोले: ‘हम ब्रेड पर बटर लगाने के लिए नहीं बैठे’

मुंबई 27 जनवरी 2020 भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्‍त्री ने टीम में अपने रोल को लेकर कई बातें कही हैं. पिछले साल वर्ल्‍ड कप में हार के बावजूद कोच बनाए गए शास्‍त्री को एक्‍सटेंशन दिया गया. उन्‍हें पूरी टीम दी गई है जिसमें बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़, गेंदबाजी कोच भरत अरुण के साथ कंडिशनल कोच निक वेब भी हैं. तो ऐसे में रवि शास्‍त्री का रोल क्‍या है? शास्‍त्री ने इसपर कहा कि मैदान के भीतर टीम के प्रदर्शन में खिलाड़ियों का ही योगदान रहता है. इसमें सभी खिलाड़ियों की खास भूमिका होती है, लेकिन मैच को लेकर सभी खिलाड़ियों को मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार करने का काम कोचिंग स्टाफ का होता है.

शास्त्री ने कहा कि ”आपको किसी खिलाड़ी के पास जाने और उसे कुछ भी बताने की जरूरत नहीं है. अगर कोई कारण है कि आपको उसे कुछ बताना है और आपके पास कोई समाधान है तो फिर मैं आगे बढ़ता हूं. मैं किसी भी खिलाड़ी के पास बिना किसी समाधान के नहीं जाता हूं.”

रवि शास्त्री ने कहा, “आप एक इकाई के रूप में कैसे बल्लेबाजी करते हैं, आप इकाई के रूप में कैसे गेंदबाजी करते हैं, आप एक-दूसरे के लिए कैसे खेलते हैं, आप एक अच्छी शुरुआत होने पर खेल को कैसे आगे ले जाते हैं, आप कैसे 20 विकेट लेते हैं, इन सबसे मैच बनता है. अगर किसी को लगता है कि हम यहां केवल ब्रेड पर बटर लगाने के लिए हैं तो वो निकल लें.”

आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीतने को लेकर जब सवाल किया गया तो रवि शास्त्री ने कहा, “इस टीम के कैबिनेट में केवल यही एक चीज गायब है. उन्‍होंने कहा कि ये जो ईसीसी ट्रॉफी है, ये नियति है. आपको इसका पीछा करना होगा.”

Spread the love