छत्तीसगढ़ सहित देश के सभी राज्यों में 1 सितम्बर को मतदाता सत्यापन कार्यक्रम… अच्छे कार्य करने वाले कलेक्टरों, ईआरओ और बीएलओ को मिलेगा अवार्ड

रायपुर 30 अगस्त 2019। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा देशभर में 1 सितम्बर 2019 को सवेरे 11 बजे मतदाता सत्यापन कार्यक्रम लॉंच किया जाएगा। इस दिन 10 लाख मतदाताओं का सत्यापन किया जाएगा। छत्तीसगढ़ में भी 1 सितम्बर को 50 हजार से 60 हजार मतदाताओं का सत्यापन करने का लक्ष्य है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने प्रदेश के सभी जिलों के जिला निर्वाचन अधिकारियों, उप जिला निर्वाचन अधिकारियों, निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों, सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों और तकनीकी अधिकारियों को इसके लिए आवश्यक निर्देश दिए हैं। उन्होंने मतदाता सत्यापन कार्यक्रम के लिए जारी समय सारणी की जानकारी देते हुए इस संबंध में भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों की विस्तारपूर्वक जानकारी भी दी है।

उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता सत्यापन कार्यक्रम लॉन्चिंग के दिन पूरे देश में 10 लाख मतदाताओं का सत्यापन सुनिश्चित किया जाएगा। मतदाता सत्यापन कार्यक्रम आगामी 1 सितंबर से 15 अक्टूबर 2019 तक चलेगा। साहू ने जिला निर्वाचन अधिकारियों को बताया कि मतदाता सत्यापन कार्यक्रम भारत निर्वाचन आयोग का महत्वाकांक्षी और महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इसके लिए जिलों के सभी मास्टर ट्रेनर्स, ईआरओ और बूथ लेवल अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाना अनिवार्य है। उन्होंने इस संदर्भ में जिला स्तर पर सभी राजनीतिक दलों के साथ बैठक रखे जाने के भी निर्देश जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिए।

मतदाता सत्यापन कार्यक्रम की लॉन्चिंग जिला स्तर, तहसील स्तर, बीएलओ हेड क्वार्टर स्तर और प्रदेश के सभी मतदान केंद्रों में एक साथ होगा। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय द्वारा इसके लिए सभी आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित समय सारणी के अनुसार प्रत्येक स्तर पर मतदाता सत्यापन कार्यक्रम की सफल लॉन्चिंग की रणनीति तय की गई है। तय कार्यक्रम के मुताबिक जिला स्तर पर प्रशिक्षण आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि 1 सितंबर 2019 को देश के अन्य राज्यों की तुलना में छत्तीसगढ़ राज्य का प्रदर्शन सबसे बेहतर हो, ऐसी उम्मीद की गई है। उन्होंने बताया कि मतदाता सत्यापन कार्यक्रम के अंतर्गत उल्लेखनीय कार्य करने वाले और उपलब्धि हासिल करने वाले देशभर से चयनित 200 बूथ लेवल अधिकारियों, 25 जिला निर्वाचन अधिकारियों और 5 मुख्य निर्वाचन पदाधिकारियों को मतदाता सत्यापन अवॉर्ड से नवाजा जाएगा। इसके लिए समयबद्ध कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। इसे दृष्टिगत रखते हुए मास्टर ट्रेनर्स को संभाग स्तरीय मुख्यालयों में प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके पश्चात प्रत्येक जिले में जिला स्तरीय प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्वाचन आयोग की मंशा के अनुरूप आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

error: Content is protected By NPG.NEWS!!