शासन की महती योजना पढ़ई तुंहर दुआर योजना अंतर्गत ऑनलाइन कक्षाओं के संचालन, वर्क कल्चर, अनुशासन एवं बेहतर क्रियान्वयन में रायगढ़ जिला समूचे प्रदेश में पहले स्थान पर है। जिले में ऑनलाइन शिक्षा सहित अन्य शैक्षिक मॉडल्स की गतिविधियों से स्वयं रूबरू होते प्रमुख सचिव डॉ आलोक शुक्ला सारंगढ़ के प्राथमिक शाला शांति नगर कनकबीरा में शिक्षिका सुश्री कमला श्याम सहा.शि.एल.बी. एवं  पुष्पा बरिहा सहा.शि.पंचा.प्राथमिक शा.मलदा ब की कुमारी संगीता सिदार सहा.शि.की कक्षा टॉपिक शरीर के अंग, माध्यमिक शा.मलदा ब के श्री मुन्नालाल सिदार की कक्षा टॉपिक कार्बोहाइड्रेट का परीक्षण एवं बरमकेला के डोगीपानी की ऑफलाइन कक्षाओं के अध्ययन-अध्यापन गतिविधियों का अवलोकन किया।

तत्पश्चात रायगढ़ के शासकीय नटवर स्कूल में संचालित हो रहे सरदार वल्लभभाई पटेल आदर्श अंग्रेजी माध्यम स्कूल के शिक्षकों के अध्ययन-अध्यापन व अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। सर्किट हाउस रायगढ़ में समीक्षा के दौरान ऑफलाइन शिक्षा में बेहतर प्रयास के लिए शासकीय प्राथमिक शाला धनागर के दिव्यांग शिक्षक अंजय सूर्यवंशी, यूट्यूब में बेहतर कंटेंट अपलोड हेतु आर.एस. प्रसाद प्राचार्य लोइंग, स्टाफ के बेहतर संयोजन व कक्षाओं के संचालन हेतु एस.के.कर्ण प्राचार्य रायकेरा, बच्चों के बेहतर ऑनलाइन टेस्ट संचालन हेतु  घई व्याख्याता टारपाली, तराई माल की श्रीमती निशा सिंग, ऑनलाइन कक्षा में सबसे ज्यादा बच्चों को जोडऩे हेतु कन्या उच्च. विद्यालय घरघोड़ा के विजय पंडा व जिले में सबसे अधिक ऑनलाइन क्लास लेने व दूसरे नंबर पर सबसे अधिक बच्चों को जोडऩे वाले प्राथमिक शाला प्रधान पाठक  निरंजनलाल पटेल से मुलाकात व चर्चा कर सभी को उनके उत्कृष्ट प्रयास हेतु शुभकामनाएं दी।

सीईओ जिला पंचायत सुश्री ऋचा प्रकाश ने प्रमुख सचिव के समक्ष रायगढ़ जिले की ऑनलाइन नेटवर्क व डेटा के बेहतर संचालन, संकलन व मेहनत के लिए एपीसी  भुवनेश्वर पटेल की सराहना की। प्रमुख सचिव डॉ.आलोक शुक्ला ने रायगढ़ जिले में पढ़ई तुंहर दुआर के संचालन, वर्क कल्चर की तरीफ करते हुए कहा कि जिले में पढ़ई तुंहर दुआर के क्रियान्वयन व बेहतर संचालन से संतुष्ट हूँ। ऑनलाइन क्लासेस के मामले में जिले अन्य जिलों से बेहतर है, इसे और बेहतर करते जाएं, जिले में इसके संचालन के तरीके की समीक्षा कर रायगढ़ जिले को मॉडल के रूप में अन्य जिलों में दिखाया जाएगा।