fbpx

अमिताभ ने सांप और सपेरे की कहानी सुनाकर ट्रोलर्स को दी नसीहत….

मुंबई 29 जुलाई 2020. अस्पताल में रहकर भी अमिताभ अपने फैंस का पूरा ख्याल रख रहे हैं और सोशल मीडिया के साथ ही साथ ब्लॉग पर भी एक्टिव हैं। ऐसे में हाल ही में जहां अमिताभ ने फिर से ट्रोलर्स को नसीहत दी तो वहीं अस्पताल से घर पहुंच चुकी ऐश्वर्या ने भी फैंस को शुक्रिया कहा।

अमिताभ बच्चन ने अपने ब्लॉग में ट्रोलर्स को नसीहत देते हुए लिखा, ‘ठोकना तो निश्चित है। वो साँप वाली कहानी तो याद होगी, एक सपेरे का पालतू साँप, मालिक की सुरक्षा के लिए वहीं पास में बैठा रहता था। जो भी उधर से गुजरे साँप उसे काट लेता था। लोगों ने शिकायत करते हुए कहा कि ये तो बहुत ख़तरनाक मामला है, सपेरे को यहाँ से हटा देना चाहिए। जब सपेरे ने ये सुना तो उसको लगा कि अगर यहाँ से हटा दिया गया तो उसका धंधा बंद हो जाएगा। उसने साँप को बुलाया, और कहा चुपचाप बैठे रहना, काटना मत किसी को, नहीं तो निकाल दिए जाएँगे।’

अमिताभ आगे लिखते हैं, ‘साँप ने यही मालिक की बात की, चुपचाप बैठा रहा। अब जो भी वहाँ से गुजरे, ये देख करके की साँप तो कुछ कर नहीं रहा, उसे डंडे से मारने लगे। साँप जान बचाने के लिए भागा वहाँ से, और पहुँच गया मालिक के पास। मालिक ने अपने साँप की दुर्दशा देख कर बहुत नाराज़ हुआ। सपेरे ने पूछा, ‘क्यूँ मार खाई तूने, उसने साँप तो फटकारा। साँप ने उत्तर दिया, मालिक आप ही ने तो कहा था की चुप चाप बैठे रहो, काटो मत, सो मैं चुपचाप बैठा रहा और क्योंकि आपने काटने से मना किया था, मार खाता रहा, और अब मेरा ये हॉल लोगों ने कर दिया है।’

अमिताभ ने ब्लॉग में आगे लिखा, ‘मालिक ने साँप को दो झापड़ मारे और डाँटते हुए कहा : अबे साले, काटने से मना किया था, फुफकारने से थोड़ी ना !! समझ ने वाले समझ गए होंगे।। ब्लॉग के आखिर में अमिताभ ने लिखा, ‘और वो जिन्हें हिंदी चुनौती की तरह लगती है, उनके लिए कृपया हमारे विस्तारित परिवार के हिंदी विशेषज्ञ इसका अनुवाद करें या कहानी को उसके अर्थ और उसके कारण समेत इसे बताने का कारण स्पष्ट करें।’

Get real time updates directly on you device, subscribe now.