अब एप्प के माध्यम से ग्राम स्तर पर योजनाओं की होगी आनलाईन मानिटरिंग

0 अधिकारियों ने सीखा गांव चैपाल एप्प चलाना, अब सीधे मोबाइल से होगी प्रविष्टियां, जनता की समस्याओं का होगा त्वरित निदान

कोरबा 27 अगस्त 19। कोरबा जिले में अब मोबाइल एप्प के माध्यम से ग्राम स्तर तक शासकीय योजनाओं और कार्यक्रमों के क्रियान्वयन तथा अधिकारी-कर्मचारियों के कामों की आनलाईन मानिटरिंग होगी। कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने जिले के सभी 722 गांवों में शासन की समस्त योजनाओं के शत प्रतिशत क्रियान्वयन की मानिटरिंग करने ग्राम चैपाल योजना शुरू की है। कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल की पहल पर पूरे प्रदेश में अपने तरह की यह अनूठी योजना ग्राम स्तर तक पदस्थ कर्मचारियों और अधिकारियों के काम में गुणवत्ता लाने के साथ-साथ लोगों की परेशानियों को कम समय में दूर करने में मददगार होगी। आज जिला पंचायत के सभाकक्ष में इस योजना से संबंधित मोबाइल एप्प के संचालन का प्रशिक्षण अधिकारी-कर्मचारियों को दिया गया। इस दौरान कलेक्टर ने कहा कि आमजनों को शासकीय योजनाओं का लाभ पूरी तरह से तभी मिल पायेगा, जब गांव, मजरा, टोला के सभी हितग्राहियों तक योजनाएं और उनकी जानकारियां पहुंचेंगी। श्रीमती कौशल ने कहा कि गांव चैपाल से जुड़े सभी अधिकारियों को गांवों तक पहुंचकर वास्तविक स्थिति को ही मोबाइल एप्प में भरना है, ताकि किसी कमी या समस्या का त्वरित समाधान हो सके। उन्होंने इसे अपने शासकीय दायित्व के साथ-साथ नैतिक दायित्व भी समझकर क्रियान्वित करने आव्हान अधिकारियों से किया।
कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने बताया कि गांव चैपाल योजना के तहत जिले के सभी गांवों को ग्राम पंचायतवार 109 कलस्टर में बांटते हुए विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय एवं विकासखंड स्तरीय अधिकारियों को एक-एक कलस्टर का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। नोडल अधिकारी हर महिने पहले सप्ताह में अपने-अपने कलस्टर के गांवों में पहुंचकर गांवों की समस्याओं और विभिन्न विभागों की शासकीय योजनाओं के संबंध में मोबाइल एप्प पर सीधे प्रविष्टियां करेंगे। दूसरे हफ्ते में विभिन्न विभागों के अधिकारी और विभाग प्रमुख अपने-अपने विभाग से संबंधित समस्याओं और मांगों का अवलोकन कर उनका उचित समाधान करेंगे। श्रीमती कौशल ने बताया कि हर माह तीसरे सप्ताह की समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में गांव चैपाल एप्प में प्रविष्टियों के आधार पर समस्याओं और मांगों के निराकरण की विभागवार समीक्षा की जायेगी।
श्रीमती कौशल ने बताया कि ग्राम स्तर पर गांव चैपाल एप्प के माध्यम से निरीक्षण के लिए नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी, स्वास्थ्य, शिक्षा, आंगनबाड़ी, पेयजल, विद्युत, सामाजिक सुरक्षा, कृषि, राजस्व, उचित मूल्य की दूकान संचालन, वन अधिकार पट््टा वितरण, जल संरक्षण, वृक्षारोपण, अवैध शराब की बिक्री जैसे 14 क्षेत्रों को चिन्हांकित किया गया है और अधिकारियों को इस संबंध में निरीक्षण प्रपत्र उपलब्ध करा दिए गये हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.