अनदेखी से नाराज हैं यह भारतीय क्रिकेटर, बोले- शुरू से ही मेरा लक्ष्य टेस्ट मैच था और मुझे खुशी है कि मैंने इसे हासिल किया

नईदिल्ली 27 अप्रैल 2020। भारतीय बल्लेबाज हनुमा विहारी टेस्ट विशेषज्ञ बनकर खुश हैं और उन्होंने कहा कि इस सत्र में आईपीएल में उनकी अनदेखी किए जाने से वह न तो निराश हैं और ना ही इससे उनकी यह धारणा बदली है कि वह छोटे प्रारूपों के लिए भी बहुत अच्छे बल्लेबाज हैं। विहारी को इंडियन प्रीमियर लीग 2019 में दिल्ली कैपिटल्स ने दो करोड़ रुपये में खरीदा था, लेकिन इस सत्र में किसी फ्रेंचाइजी ने उनमें दिलचस्पी नहीं दिखाई।

आईपीएल को हालांकि कोविड-19 महामारी के कारण अभी अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। विहारी ने इंस्टाग्राम में पर बातचीत के दौरान कहा, ‘मैंने महसूस किया कि जब चीजें आपके नियंत्रण में नहीं होती है तो आप कुछ नहीं कर सकते। मैं आईपीएल में अनदेखी से निराश नहीं हूं। शुरू से ही मेरा लक्ष्य टेस्ट मैच था और मुझे खुशी है कि मैंने इसे हासिल किया।’

विहारी ने कहा कि वह कप्तान विराट कोहली के कार्य शैली से काफी प्रभावित है और मैच से पहले उनकी तैयारियों को देखकर उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलता है। उन्होंने कहा, ‘कोहली के खेल का सबसे महत्वपूर्ण पक्ष उनकी तैयारियां है। मैंने यह चीज उनसे सीखी है। उनकी कार्यशैली भी अद्भुत है।’

विदेशों में भारतीय टेस्ट टीम के नियमित सदस्य विहारी ने कहा कि वह हमेशा अपना विकेट बचाए रखने को महत्व देते हैं ताकि उन्हें टीम से बाहर न होना पड़े। इस 26 वर्षीय बल्लेबाज ने कहा, ‘मैं टीम के लिए कुछ भी करने को तैयार हूं। मैं जब भी विदेशों में खेलता हूं तो हमेशा रन बनाने और लंबी पारियां खेलने की कोशिश करता हूं। मैं हमेशा टीम के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करता हूं, ताकि मुझे टीम से बाहर न किया जा सके।’

टेस्ट क्रिकेट में सफल विहारी का मानना है कि वह अन्य प्रारूप में भी अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता रखते हैं। उन्होंने कहा, ‘लोग आपके बारे में क्या सोचते हैं, मैं उसे नहीं बदल सकता। मुझे लगातार रन बनाते रहने होंगे और यही बातें मेरे दिमाग में आती है। मेरा मानना है कि मै प्रत्येक प्रारूप में अच्छा प्रदर्शन कर सकता हूं। जब भी मुझे सही मौका मिलेगा, मैं ऐसा कर सकता हूं।’

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.